मातृत्व अवकाश (मैटरनिटी लीव)

मातृत्व लाभ संशोधन अधिनियम, 2017कारखानों, खानों और दुकानों या वाणिज्यिक प्रतिष्ठानों में कार्यरत महिलाओं को वेतन सहित प्रसूति अवकाश का अधिकार और अन्य संबंधित लाभों को विनियमित करता है।. 

 

मातृत्व लाभ संशोधन अधिनियम,2017 की प्रमुख विशेषताएं::

  • बढे हुए वेतन सहित प्रसूतिअवकाश:इस अधिनियम में महिला कर्मचारियों के लिए उपलब्ध वेतन सहित अवकाश की अवधि मौजूदा 12 सप्ताह से बढाकर26 सप्ताह कर दी गई है। यह सुविधा महिलाओं द्वारा प्रत्याशित प्रसव की तारीख से 8 सप्ताह पहले तक की अवधि के लिए और बच्चे के जन्म के उपरांत शेष 18 सप्ताह का अवकाश के रूप में ली जा सकती है। जो महिलाएं पहले ही 2 बच्चे होने के बाद बच्चे की उम्मीद कर रही हैं,उनके लिए वेतन सहित प्रसूति अवकाश की अवधि 12 सप्ताह होगी (यानि प्रसव के 6 सप्ताह पूर्व और प्रसव की अनुमानित तारीख के बाद 6 सप्ताह)।.
  • दत्तक और धात्री/कमीशनिंग माताओं के लिए प्रसूति अवकाश:: प्रत्येक महिला,जो बच्चे का दत्तक-ग्रहण करती है,दत्तक-ग्रहण की तारीख से 12 सप्ताह के प्रसूति अवकाश की हकदार होगी। सरोगेसी के मामले में भी धात्री/कमीशनिंग माताओं पर भी यही लागू होता है।
  • घर सेकाम किये जाने का विकल्प 26 सप्ताह की अवकाश की अवधि की समाप्ति के बादकार्य के स्वरूप के आधार परमहिला कर्मचारी इस सुविधा का उपयोग उन शर्तों पर करने की पात्र हो सकती है जो नियोक्ता से परस्पर सहमति रखती हों ।.
  • शिशु गृह (क्रेच)की सुविधा: यह अधिनियम 50 या उससे अधिक कर्मचारियों को नियोजित :करने वाले प्रत्येक प्रतिष्ठान के लिए शिशु गृह (क्रैच) सुविधा दिये जाने को अनिवार्य बनाता है। महिला कर्मचारियों को दिन में चार बार शिशु गृह (क्रेच) जाने की अनुमति दी जाएगी ।.
  • कर्मचारी जागरूकता:महिलाओं को उनकी नियुक्ति के समय उनको उपलब्ध मातृत्व लाभ के: बारे में नियोक्ताओंद्वारा शिक्षित करना होगा।.

 

मातृत्व लाभ और भुगतान के लिए आवेदन कैसे करें?

अधिनियम द्वारा यथा निर्धारित किसी प्रतिष्ठान में नियोजित और मातृत्व लाभ की हकदार कोई भी महिला अपने नियोक्ता को इस आशय का कि वह मातृत्व लाभ के लिए उसका अनुरोध और कोई भी अन्य राशि जिसके लिए वह हकदार हो लिखित रूप में नोटिस दे सकती है। उन्हें यह भी उल्लेख करना चाहिए कि वह उस अवधि,जिसके लिए वह मातृत्व सुविधा प्राप्त करती है,के दौरान किसी भी अन्य प्रतिष्ठान में काम नहीं करेगी । महिला मातृत्व लाभ और भुगतान पाने के लिए किसी अन्य ज्ञात व्यक्ति को नामित कर सकती है।.

 

आप कहां शिकायत कर सकते हैं??

यदि किसी भी महिला को मातृत्व सुविधा और कंपनी से भुगतान नहीं मिलता है या अगर उसे गर्भावस्था के दौरान बरखास्त कर दिया जाता है तो वह अधिकृत पुलिस अधिकारी को शिकायत दर्ज कर सकती है।.

 

मातृत्व लाभ (संशोधन) अधिनियम,2017 का पूरा पाठ पढ़ें ।

 

मातृत्व लाभ अधिनियम,1961 का पूरा पाठ पढ़ें ।