प्रेरणाप्रद महिलाएं
  • pm

    "हम सभी की जरूरत है हमारे दिमाग को बदलना है हमें लोगों के दिल को एकजुट करने की आवश्यकता है। "

  • blue

    क्या तुम्हें पता था? दहेज निषेध अधिनियम, 1 9 61 के तहत दहेज देने, लेने, मांगने या विज्ञापन भी सभी अवैध हैं

2017-2018 विजेता के लिए पुरस्कार

हम प्रेरणादायक महिलाओं के उदाहरणों से घिरे हैं जो हमें दिखाते हैं कि किसी महिला के लिए कोई सपना असंभव नहीं है। ये वे व्यक्ति हैं जिन्होंने रचनात्मक रूप से सोचा है, वर्षों से कड़ी मेहनत की है और जो कुछ भी है, जिसे सीमा के रूप में परिभाषित किया गया है, महिला & rsquo; s & amp; rsquo; हमें आशा है कि इन महिलाओं के जीवन के बारे में सीखने से कई अन्य लोगों को सफलता के अपने मार्गों का पालन करने के लिए प्रेरित किया जा सकता है। यहां आप उन संगठनों के काम को भी देख सकते हैं जिन्होंने महिलाओं के सशक्तिकरण के कारण योगदान दिया है।

inspire wommen

1.

सुश्री जयम्मा भंडारी

सुश्री जयम्मा भंडारी पिछले 20 से भी अधिक वर्षों से यौन कर्मियों के पुनर्वास कार्य में संलग्न हैं ।

inspire wommen

2.

सुश्री के. श्यामलाकुमारी

सुश्री के. श्यामलाकुमारी केरल में मंदिरों में भित्तिचित्र बनाने वाली प्रथम ज्ञात महिला कलाकार हैं ।

inspire wommen

3.

वनस्त्री

वनस्त्री दक्षिण भारत में पश्चिमी घाटों के मलनाड़ क्षेत्र में महिलाओं द्वारा संचालित बीज संरक्षण समूह है ।

inspire wommen

4.

सुश्री गार्गी गुप्ता

सुश्री गार्गी गुप्ता ने वर्ष 1992 में व्याइस ऑफ वर्ल्ड नामक गैर-सरकारी संगठन की स्थापना की, जो पूर्वी भारत में दृष्टि-बाधित और दिव्यांग अनाथ बच्चों के कल्याणार्थ कार्यरत है ।

inspire wommen

5.

डॉ0 सिंधुताई सप्कल

वर्धा में पैदा हुई डॉ0 सिंधुताई सप्कल ने चौथी कक्षा में ही पढ़ाई छोड़ दी,क्योंकि उनके माता-पिता उनकी पढ़ाई-लिखाई का खर्च वहन नहीं कर सके ।

inspire wommen

6.

बेटी जिंदाबाद बेकरी

छत्तीसगढ़ सरकार ने अवैध मानव व्यापार से छुड़ाई गई महिलाओं के लिए पाथलगांव, जशपुर में बेटी जिंदाबाद नामक एक व्यापक अभियान के अंतर्गत एक प्रायोगिक परियोजना के रूप में अपनी किस्म की पहली अद्वितीय पहल की है ।

inspire wommen

7.

सुश्री साबरमती

सुश्री साबरमती संरक्षणविद और विदुषी हैं और वर्ष 1993 में ओडिशा के नयागढ़ जिले में स्थित संभव नामक गैर-सरकारी संगठन के साथ कार्यरत हैं ।

inspire wommen

8.

सुश्री मित्तल पटेल

सुश्री मित्तल पटेल ने भारत के खानाबदोश और वि-अधिसूचित आदिवासियों को अधिकार दिलाने के लिए व्यापक कार्य किया है । सुश्री पटेल अहमदाबाद में विचरता समुदाय समर्थन मंच की संस्थापक हैं ।

inspire wommen

9.

डॉ0 एस. सिवा सत्या

डॉ0 एस. सिवा सत्या ने वर्ष 2015 में मित्र (मोबाइल संचालित खोज एवं बचाव एप्लीकेशन) नामक मोबाइल एप्लीकेशन विकसित की, जो कि पुद्दुचेरी क्षेत्र के लिए विशेषीकृत एसओएस एप्लीकेशन है ।

inspire wommen

10.

डॉ0 लिज़ीमोल फिलिपोज़़ पामाडीकंडाथिल

डॉ0 लिज़ीमोल फिलिपोज़़ पामाडीकंडाथिल एक वैज्ञानिक हैं, जिन्हें पोलिमर और जैव-सामग्रियों के क्षेत्र में तीन दशक का अनुभव प्राप्त है ।

inspire wommen

11.

सुश्री चिरोम इंदिरा

सुश्री चिरोम इंदिराइम्फाल, मणिपुर की हथकरघा उद्यमी और सामाजिक कार्यकर्त्री हैं । वर्ष 2015 में इन्हें हथकरघा उत्पाद श्रेणी के संवर्धन के लिए अभिकल्प और विकास के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया ।

inspire wommen

12.

सुश्री उर्मिला बलवंत आप्टे

सुश्री उर्मिला बलवंत आप्टे महिला अधिकारों की समर्थक हैं और इन्होंने महिला-पुरुष समानता के लिए कई दशक कार्य किया है ।

inspire wommen

13.

सुश्री दीपिका कुंडाजी

सुश्री दीपिका कुंडाजी संरक्षणविद हैं, जो सब्जियों की 90 से भी अधिक संकटापन्न परंपरागत किस्मों को बचाने और उन्हें पुनर्जीवित करने के लिए वर्ष 1994 से कार्यरत हैं ।

inspire wommen

14.

सुश्री पूर्णिमा बर्मन

सुश्री पूर्णिमा बर्मन वन्य जीव-विज्ञानी हैं, जो हर्गिल्ला नामक संकटापन्न स्टॉर्क के संरक्षण के लिए अथक प्रयास करती रही हैं।

inspire wommen

15.

डॉ0 अनिता भारद्वाज

डॉ0 अनिता भारद्वाज चिकित्सा व्यवसायी हैं, जिन्होंने सर्वाधिक कठिन परिस्थितियों में स्वास्थ्य सेवाएं सुनिश्चित करने के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया ।

inspire wommen

16.

डॉ0 भारती कश्यप

डॉ0 भारती कश्यप सुविख्यात नेत्र चिकित्सक और लोकोपकारक हैं, जिन्होंने पिछले 23 वर्षों से निर्धन और निराश्रित लोगों में दृष्टिहीनता के विरूद्ध युद्ध छेड़ रखा है और जिन्होंने झारखंड के आदिवासी और प्राचीन आदिवासी क्षेत्रों में महिलाओं और बच्चों के कल्याणार्थ अपना जीवन समर्पित कर दिया है ।

inspire wommen

17.

सुश्री अम्बिका बेरी

सुश्री अम्बिका बेरी ने अकेले ही आर्ट आइचोल की स्थापना की है, जो कि मध्य प्रदेश में खजुराहो से 120 किमी. दूर माइहर के निकट आइचोल नामक एक छोटे से गांव में स्थित विश्व-स्तरीय कलाकेंद्र है ।

inspire wommen

18.

सुश्री गौरी मौलेखी

सुश्री गौरी मौलेखी ने भारत में पशु कल्याण के समर्थन में योगदान दिया है ।

inspire wommen

19.

सुश्री पुष्पा गिरिमाजी

सुश्री पुष्पा गिरिमाजी को भारत में ऐसी एकमात्र पत्रकार होने का गौरव प्राप्त है, जिन्होंने पिछले 35 वर्षों से साप्ताहिक कॉलम लिखते हुए लगातार उपभोक्ता सशक्तीकरण और उपभोक्ता सुरक्षा का अभियान चलाया है ।

inspire wommen

20.

अवनी संगठन

अवनी की स्थापना रश्मि भारती और रजनीश जैन द्वारा वर्ष 1999 में की गई । यह संगठन ग्रामीण लोगों, विशेषकर महिलाओं, के लिए सतत आजीविका के सृजन के प्रति समर्पित है ।

inspire wommen

21.

श्रुजन

वर्ष 1969 में कच्छ सूखे की चपेट में आ गया था । श्रीमती चंदा श्रॉफ ने मुफ्त खाना बांटने में मदद करने के लिए कच्छ के धनेटी गांव का दौरा किया । वहां की महिलाओं के कपड़ों पर उत्कृष्ट कशीदाकारी देखकर श्रीमती श्रॉफ को उनके लिए सतत और सम्मानित आजीविका के साधन की किरण दिखाई दी । यहीं से श्रुजन का प्रारंभ हुआ ।

inspire wommen

22.

डॉ0 सी. के. दुर्गा

डॉ0 सी. के. दुर्गाने स्तन कैंसर पर अपने गहन अनुसंधान के माध्यम से महिलाओं के स्वास्थ्य के क्षेत्र में भारी योगदान दिया है ।

inspire wommen

23.

सुश्री रेखा मिश्रा

सुश्री रेखा मिश्रा ने वर्ष 2015 में रेल सुरक्षा बल में पदार्पण किया और मुम्बई में छत्रपति शिवाजी टर्मिनस रेलवे स्टेशन से अकेले ही 953 ऐसे बच्चों को बचाया, जो अपने घरों से भाग गए थे/गुम हो गए थे/अवैध मानव व्यापार का शिकार हो गए थे ।

inspire wommen

24.

सुश्री थिनलस कोरोल

सुश्री थिनलस कोरोल ने 29 वर्ष की आयु में लद्दाखी विमैन्स ट्रैवलकम्पनी की स्थापना की और यह लद्दाख में महिलाओं के स्वामित्वाधीन और उनके द्वारा संचालित पहली कम्पनी है ।

inspire wommen

25.

सुश्री महविश मुश्ताक

सुश्री महविश मुश्ताक को कश्मीर के लिए पहली एन्ड्रॉयड एप्लीकेशन विकसित करने का गौरव प्राप्त है, जो डायल कश्मीर के नाम से जानी जाती है ।

inspire wommen

26.

करुणा सोसायटी फॉर एनिमल्ज़ एंड नेचर

सुश्री क्लिमैंटियन पॉस कोएन्ग्रस वर्ष 1995 में अपने पति के साथ नीदरलैंड से भारत आईं और सीधे पुट्टापार्थी में सत्यसाईं बाबा के आश्रम में चली गईं । पशुओं की दुर्दशा से विचलित होकर इन्होंने आवारा पशुओं की देखभाल का काम शुरू कर दिया ।

inspire wommen

27.

नाविका सागर परिक्रमा - आईएनएसवी तरिणी दल (लै. कमांडर वर्तिका जोशी, ले. कमांडर प्रतिभा जामवाल, लै. कमांडर पतरपल्ली स्वाति, लै. एश्वर्या बोदापति, लै. एस.एच. विजय देवी, लै. पायल गुप्ता

भारतीय नौसेना के नौ-चालन पोत तरिणी का कर्मी दल भारतीय नौसेना की अद्वितीय परियोजना नाविका सागर परिक्रमा, का एक हिस्सा हैं, जो कि नौसेना में समुद्री यात्रा गतिविधियों को बढ़ावा देने वाला और महिला सशक्तीकरण की दिशा में भारत सरकार की प्रतिबद्धता को दर्शाने वाला पूरे विश्व में समुद्री यात्रा करने वाला महिलाओं का दल है ।

inspire wommen

28.

वन स्टॉप सैंटर, रायपुर

छत्तीसगढ़ राज्य के रायपुर में चल रहा वन स्टॉप सैंटर (ओएससी) सखी हिंसा से प्रभावित महिलाओं को चौबीसों घंटे एक ही स्थान पर समेकित सेवाएं प्रदान करता है । अब तक लगभग 1840 महिलाएं सैंटर की सेवाओं का लाभ उठा चुकीं हैं ।

inspire wommen

29.

मिलेट नैटवर्क ऑफ इंडिया

नैशनल मिलेट सिस्टर नैटवर्क 9 राज्यों की 100 महिलाओं द्वारा शुरू किया गया अपनी किस्म का पहला ऐसा समूह है, जो ज्वार और बाजरा की खेती के बारे में महिलाओं को जानकारी प्रदान करता है ।

inspire wommen

30.

पंजाब राज्य

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ स्कीम घटते लिंग अनुपात की समस्या और महिला सशक्तीकरण से जुड़े मुद्दों के समाधान के लिए माननीय प्रधान मंत्री, श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा एक प्रमुख कार्यक्रम के रूप में शुरू की गई ।

inspire wommen

31.

सुश्री मधु जैन

शिल्प पुनरुत्थानकर्ता और वस्त्र संरक्षणविद, सुश्री मधु जैन का कार्य आर्थिक दृष्टि से अत्यंत महत्वपूर्ण है ।

inspire wommen

32.

सुश्री जैटसन पेमा

सुश्री जैटसन पेमा नेतिब्बत के शरणार्थी बच्चों के कल्याणार्थ वर्ष 1964 से कार्य करते हुए अपना जीवन समर्पित कर दिया ।

inspire wommen

33.

डॉ0 एम.एस. सुनील

पथनमथिट्टा से सेवा-निवृत्त प्राणीविज्ञान शिक्षिका,डॉ0 एम.एस. सुनीलजन सहायक शब्द का जीता-जागता उदाहरण हैं । इन्होंने सिद्ध कर दिया है कि अकेला व्यक्ति भी लोगों के जीवन स्तर में सुधार ला सकता है ।

inspire wommen

34.

सुश्री शीला बालाजी

सुश्री शीला बालाजीएम फॉर सेवा तथा स्वामी दयानंद शैक्षणिक न्यास की अध्यक्षा और प्रबंधन न्यासी हैं । परंपरागत किस्मों के चावलों का संरक्षण महत्वपूर्ण है । अत:, इन्होंने न केवल चावल की इन बहुमूल्य किस्मों की खेती की, बल्कि यह भी सुनिश्चित किया कि लोग इनका स्वाद चखें और ये किसानों के आर्गेनिक खेती के इस्तेमाल से एक बार पुन: इन किस्मों उगाने के लिए प्रोत्साहित करती रही हैं ।

inspire wommen

35.

डॉ0 मालविका अय्यर

डॉ0 मालविका अय्यर मात्र 13 वर्ष की आयु में बीकानेर, राजस्थान में हुए एक बम विस्फोट में जीवित बच निकलीं । इस विस्फोट में इन्होंने अपने दोनों हाथ गंवा दिए और इनकी दोनों टांगे गंभीर रूप से क्षतिग्रस्त होने के साथ-साथ इन्हें स्नायु पक्षाघात और न्यूनसंवेदिता (हिपोस्थीसिया) हो गया । डॉ0 मालविका अय्यरसामाजिक कार्य में डाक्टरेट की डिग्री के साथ साथ पुरस्कार से सम्मानित दिव्यांग अधिकार एक्टिविस्ट भी हैं।

inspire wommen

36.

रेवन्ना उमादेवी नागराज

रेवन्ना उमादेवी नागराज की जीवन-यात्रा अविश्वसनीय है । इन्होंने वर्ष 1989 में कर्नाटक के बागवानी विभाग में टाइपिस्ट के रूप में अपने जीवन की शुरूआत की और बिलियडर्स में विश्व चैम्पियन बनीं ।

inspire wommen

37.

अनुराधा कृष्णमूर्ति और नम्रता सुंदरसन

अनुराधा और नम्रता दोनों अलग-अलग क्षेत्रों में कार्यरत हैं । अनुराधा कैन डू नामक बीपीओ की संस्थापक हैं, जहां दिव्यांगों पर ध्यान केंद्रित करते हुए उन्हें डेटा/डैस्क अनुसंधान कार्यों में लगाया जाता है ।

inspire wommen

38.

न्यायमूर्ति गीता मित्तल

न्यायमूर्ति गीता मित्तल का काफी समय से यह मानना रहा है कि महिलाओं और बच्चों के साथ लैंगिक हिंसा के मामलों में न्यायालयों में होने वाली परंपरागत पूछताछ उन्हें समान न्याय दिलाने में अत्याधिक बाधक है ।

2015-2016 विजेता के लिए पुरस्कार

हम प्रेरणादायक महिलाओं के उदाहरणों से घिरे हैं जो हमें दिखाते हैं कि किसी महिला के लिए कोई सपना असंभव नहीं है। ये वे व्यक्ति हैं जिन्होंने रचनात्मक रूप से सोचा है, वर्षों से कड़ी मेहनत की है और जो कुछ भी है, जिसे सीमा के रूप में परिभाषित किया गया है, महिला & rsquo; s & amp; rsquo; हमें आशा है कि इन महिलाओं के जीवन के बारे में सीखने से कई अन्य लोगों को सफलता के अपने मार्गों का पालन करने के लिए प्रेरित किया जा सकता है। यहां आप उन संगठनों के काम को भी देख सकते हैं जिन्होंने महिलाओं के सशक्तिकरण के कारण योगदान दिया है।

inspire wommen

1.

अनट्टा सोने

आप दूरस्थl संवेदी संचार, चंद्र और अंतर-भूमंडलीय मिशनों के लिए औरबिट निर्धारण प्रणालियों के डिज़ाइन और विकास कार्य की प्रमुख सदस्याo हैं ।

नारी शक्ति पुरस्कािर विजेता, 2016

संपर्क : ozoneyoga@gmail.com

inspire wommen

2.

वी. नानाम्‍मली

आप 90 से अधिक वर्ष की योग उत्सा2ही हैं । आप 08 वर्ष की आयु से ही योग कर रही हैं और योग शुरू करने के लिए पूरी पीढ़ी को प्रेरणा प्रदान करती रही हैं । आप प्राकृतिक चिकित्सा8 की प्रबल समर्थक है और रोज़मर्रा के जीवन में कड़ा अनुशासन बनाए रखती हैं । आपने विभिन्न8 प्रतियोगिताओं में अनेक स्वमर्ण पदक और ट्रॉफियां जीती हैं । आपके 600 शिष्यt पूरे विश्वस में लोगों को योग सिखा रहे हैं ।

नारी शक्तिो पुरस्का।र विजेता, 2016

संपर्क : ozoneyoga@gmail.com

inspire wommen

3.

सुभा वारियर

वनस्त्री आपने वास्तरविक समय प्रदर्शन के लिए एसडीएस, एसएचएआर की आकृति को अंतिम रूप देने में योगदान दिया है ।

नारी शक्तिे पुरस्काैर विजेता, 2016

संपर्क : subha_varier@vssc.gov.in, svarierg@gmail.com

inspire wommen

4.

पल्‍लवी फौज़दार

आप ऐसी साहसिक मोटरसाइक्लिजस्टi, जिन्होंिने मोटरसाइक्लिंcग के क्षेत्र में अद्वितीय उपलब्धिoयां हासिल की हैं । आप पहली ऐसी मोटरसाइक्लिटस्ट< हैं, जिसने मोटरसाइकिल पर 16 हिमालयी दर्रों को कवर किया है, जिनमें से 08 दर्रे 5000 मीटर (16,600 फुट) की ऊंचाई पर थे । आपने राष्ट्रीकय और अंतरराष्ट्री य स्त8र पर अनेक रिकार्ड स्थारपित किए हैं ।

नारी शक्तिर पुरस्कारर विजेता, 2016

संपर्क : saikripa.healing@gmail.com

inspire wommen

5.

सुनीता सिंह चोकन

आप हरियाणा की सबसे कम उम्र की ऐसी लड़की हैं, जिसने वर्ष 2011 में सबसे ऊंची चोटी माउण्टr एवरेस्टा पर चढ़ाई की । आप हरियाणा के रेवाड़ी जिले से “बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ” अभियान की ब्रैंड अम्बै स्डचर भी हैं । आप भारत से ''शीघ्र विवाह की प्रथा'' का उन्मू=लन करने के प्रति समर्पित हैं ।

नारी शक्तिप पुरस्कासर विजेता, 2016

संपर्क : jennychocken@gmail.com

inspire wommen

6.

डॉ0 कम्‍पना शंकर

आप हैंड इन हैंड इण्डिgया की अध्‍यक्षा और प्रबंध न्या>सी हैं । आपका यह संगठन कई राज्योंo में पिछले 21 वर्षों से महिला स्वp-सहायता समूहों, आजीविका, बाल श्रम, नागरिकों की सहभागिता के सुदृढ़ीकरण और प्राकृतिक संसाधन प्रबंधन और ठोस अपशिष्टव प्रबंधन के माध्यधम से सतत विकास की दिशा में कार्य कर रहा है ।

नारी शक्तिि पुरस्का र विजेता, 2016

संपर्क : kalpana.sankar@hihindia.org

inspire wommen

7.

दिव्‍या रावत

“मशरूम महिला” के नाम से विख्या<त, ने बड़ी मात्रा में मशरूम उगाना शुरू किया और सौम्य फूड्स प्रा0 लि0 नामक अपने सामाजिक उद्यम के माध्य,म से कई लोगों को रोज़गार प्रदान किया । दिव्याश ने मशरूम की खेती को घर-घर की परियोजना बना दिया और अपने उस गांव में ऐसा परिवर्तन लाईं, जहां लोग आजीविका के लिए व्याीकुल थे ।

नारी शक्तित पुरस्कामर विजेता, 2016

संपर्क :rawatd064@gmail.com

inspire wommen

8.

अमृता पाटिल

आप लेखिका, पेंटर और ग्राफिक उपन्याpसों की लेखिका हैं । महाभारत, पुराणों और कहानियां सुनाने वालों की परंपरा पर आधारित आपके उपन्यापस 'आदि पर्व' को वर्ष 2012 के लिए सर्वोत्ताम ग्राफिक उपन्याआसों में से एक के रूप में चुना गया । आपकी कृतियों के आवर्ती विषयों में कपाल चिन्ही, काम वासना, मिथक, धारणीय जीवन और सदियों से एक कहानीकार से दूसरे कहानीकार तक पहुंचने वाली कहानियों की अविरल संख्याे शामिल है ।

नारी शक्तिक पुरस्काहर विजेता, 2016

संपर्क :amruta.patil@gmail.com

inspire wommen

9.

जानकी वसंत

आप बुनियादी स्तfर पर कार्यरत संवेदना नामक संगठन की संस्थानपक हैं, जिसका बल शिक्षा और पोषण पर है। संवेदना वंचित बच्चों की गुणवत्तासपूर्ण प्राथमिक शिक्षा की जरूरतों को पूरा करने के लिए सरकार के उत्प्रे रक की भूमिका निभा रहा है । पिछले 14 वर्षों में आपके द्वारा शुरू की गई विभिन्नक पहलों के माध्यीम से आपने 150,000 लाभार्थियों को लाभ पहुंचाया है ।

नारी शक्ति पुरस्कापर विजेता, 2016

संपर्क :janki@samvedana.org.in

inspire wommen

10.

अमाला अक्‍किनेनी

आप पिछले 23 वर्षों से हैदराबाद के ब्लूs क्रॉस की संस्थाथपक और अध्यsक्षा हैं । आप बालिकाओं के कल्याछण, ग्रामीण महिलाओं के सशक्तीoकरण, एचआईवी के बारे में जागरुकता फैलाने, पशु कल्याuण, वन्यक जीव और पर्यावरण के संरक्षण जैसे मुद्दों के समाधान के लिए सामाजिक परिवर्तन लाने की दिशा में कार्यरत विभिन्नह सरकारी और गैर-सरकारी संगठनों को सहायता प्रदान करती रही है । वर्ष 2015 में शहरी विकास मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा आपको स्वयच्छत भारत मिशन का अम्बेमसेडर नियुक्तय किया गया ।

नारी शक्तिद पुरस्काभर विजेता, 2016

संपर्क : a.akkineni@gmail.com

inspire wommen

11.

इल्‍से कोलर रोल्‍फसन

आप जर्मन पशु चिकित्सaक हैं, जो पीएचडी करने के लिए वर्ष 1990 में राजस्थाgन पहुंची और अपना पूरा जीवन राइका (राजस्था्न का खानाबदोश आदिवासी समुदाय) और ऊँटों को समर्पित कर दिया । आपने राजस्थापन के पाली में 'लोक हित पशुपालक संस्थाऔन' नामक गैर-सरकारी संगठन बनाया, जो राइका और उनके ऊंटों के लिए सहायता समूह के रूप में कार्य करता है । पशु चिकित्सयक के रूप में प्रशिक्षित होने के कारण आप ऊँटों और राइका परिवारों के बीच घनिष्ठश और स्नेेहपूर्ण संबंधों से मंत्र-मुग्धऊ हो गईं । नारी शक्तिि पुरस्का र विजेता, 2016 संपर्क : ilse.koehlerroll@googlemail.com

inspire wommen

12.

डॉ0 नंदिता शाह

आप सैंक्चुeरी फॉर हैल्थg एंड रिकनैक्श न टू एनिमल्सर एंड नेचर (एसएचएआरएएन) नामक संगठन चला रही हैं । आपका यह संगठन समग्र स्वा‍स्य्ैक और पारिस्थि कीय रूप से धारणीय संवेदनशील जीवनशैली के बारे में लोगों में जागरुकता पैदा कर रहा है । आप सक्रिय रूप से प्राकृतिक, ऑर्गेनिक, स्वारस्थ वर्द्धक आहार को बढ़ावा देते हुए कार्यशालाओं और आध्याात्मिiक साधना शिविरों का आयोजन करती हैं और आप भारत में और विदेशों में 20,000 से भी अधिक लोगों के जीवन पर सकारात्मतक प्रभाव डाल चुकी हैं ।

नारी शक्तिी पुरस्काीर विजेता, 2016

संपर्क : nandita@sharan-india.org

inspire wommen

13.

सुमित्रा ह़जारिका

आप अंतरराष्ट्री य स्तsर की पदक विजेता एथलीट और मिशन फॉर इंटिग्रेशन, जैंडर इक्विtलाइजेशन, हार्मनी एंड फाइट अगेंस्टत थ्रैट (एमआईजीएचटी) की अध्य क्षा हैं । आप वर्ष 1982 से महिला कल्यालण के क्षेत्र में कार्यरत हैं और आपने अपने सामाजिक कार्य के लिए कई पुरस्काशर प्राप्ता किए हैं । आप एक लेखिका भी हैं और समाचार पत्रों तथा पत्रिकाओं में स्तंएभ लेखन का कार्य करती हैं ।

नारी शक्ति पुरस्का।र विजेता, 2016

संपर्क : drprintersghy@gmail.com

inspire wommen

14.

टियासा आध्‍या

आप एक जीव विज्ञानी और संरक्षणविद हैं, जो सैद्धांतिक ज्ञान और संरक्षण प्रथा के बीच अंतर को भरने का कार्य कर रही हैं। आपके प्रयासों से कच्छै भूमि के संरक्षण के लिए किए गए मुकद्दमों में और जागरुकता बढ़ाने में मदद मिली है । इसके फलस्विरूप, चार ग्राम पंचायतों ने जैव- विविधता दाय स्थेल के रूप में मान्य>ता प्राप्तप करने के लिए राज्यत के जैव-विविधता बोर्ड को एक प्रस्ता व प्रस्तुेत किया है । टियासा द्वारा किए गए अध्यायन से यह पता चला है कि फिशिंग कैट चूहों से स्थापनीय रूप से फैलने वाली बीमारियों को रोक सकती हैं और चूहों के कारण फसलों को होने वाले नुकसान को रोकने में किसानों की मददगार हो सकती हैं ।

नारी शक्ति पुरस्काकर विजेता, 2016

संपर्क : adhyatiasa@yahoo.com

inspire wommen

15.

पामेला मल्‍होत्रा

आपने अपने पति के साथ मिलकर 1991 में बंजरभूमि खरीदी और इसे 300 एकड़ के वन्य< जीव अभयारण्यआ में परिवर्तित कर दिया । यह भारत का पहला निजी वन्यइ जीवन अभयारण्य है । आपने भावी पीढ़ियों के लिए वनस्प्ति और जीवों, विशेषकर वर्षा वनों के संरक्षण के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया ।

नारी शक्तिि पुरस्कावर विजेता, 2016

संपर्क : Saisanctuary@Gmail.Com

inspire wommen

16.

बी. कोडानयागे

आप पीएसएलवी - सी37 प्रक्षेपण वाहन के लिए सभी सॉलिड मोटरों की माध्यnम और नियंत्रण प्रणाली को तैयार करने और उसके निष्पाीदन के लिए उत्त्रदायी थीं ।

नारी शक्ति् पुरस्काकर विजेता, 2016

संपर्क : codai@shar.gov.inm

inspire wommen

17.

अनोयारा खातून

आप दहाड़िया समाज कल्याeण सोसायटी के साथ कार्य करती रही हैं और बाल यौन व्या पार, बाल विवाह, बाल श्रम और घरेलू हिंसा को रोकने के लिए कार्य में संलग्नी हैं । अनुयारा ने गांव में बाल समूह के एक सदस्यश के रूप में कार्य करना शुरू किया और लगभग 50 अवयस्कु लड़कियों को बाल विवाह से बचाने में सफल रही हैं । आपने अवैध मानव व्या पार की लगभग 85 कोशिशों को नाकाम कर दिया, 200 से अधिक बच्चोंव को बचाने और उन्हें। उनके परिवारों से मिलाने में मदद की और स्कूबली पढ़ाई छोड़ चुकी 200 लड़कियों को दोबारा स्कू ल भिजवाने में सफल रहीं ।

नारी शक्ति पुरस्काचर विजेता, 2016

संपर्क : anoyaradsws@gmail.com

inspire wommen

18.

दीपा माथुर

आप 'क्वामलिटी ऑफ लाइफ इम्प्रू वमेंट सोसायटी (क्यू-यूएएलआईएस) नामक गैर-सरकारी संगठन चला रही हैं । स्वा-सहायता समूह स्थामपित करने के लिए 700 कारीगर और 400 बुनकर इस गैर-सरकारी संगठन से जुड़े हैं और संगठन ने पूरे राजस्थापन में अनेक लघु ऋण केंद्र स्थाीपित किए हैं ।

नारी शक्ति पुरस्काठर विजेता, 2016

संपर्क : quails.jaipur@gmail.com

inspire wommen

19.

मुमताज काज़ी

आप एशिया की प्रथम महिला डीज़ल रेलगाड़ी चालक हैं, जो अपनी वीरतापूर्ण उपलब्धिcयों से चुपचाप महिला जगत को प्रेरित कर रही हैं और सशक्तज बना रही हैं । आपको 20 वर्षों का अनुभव प्राप्तज है और इन दिनों भारत में सर्वाधिक भीड़भाड़ वाली रेलवे में कार्य कर रही हैं ।

नारी शक्तिप पुरस्कारर विजेता, 2016

संपर्क : kmumtaz.com@gmail.com

inspire wommen

20.

स्‍मिता टांडी

आप एक सिपाही हैं और केवल 20 महीनों में ही फेसबुक पर आपके 7 लाख से भी अधिक फॉलोअर बन गए हैं । आप निर्धन लोगों की स्थिेति को लोगों के सामने रखती हैं और उनसे मदद करने का अनुरोध करती हैं । टांडी और उसके मित्रों ने गरीबों के लिए पैसा इकट्ठा करके उनकी मदद करने के लिए वर्ष 2014 में फेसबुक पर एक ग्रुप बनाया । जब उन्हें छत्तीलसगढ़ में किसी निर्धन व्यरक्तिष की समस्याम के बारे में पता चलता है तो वह उस व्य क्तिी से मिलती हैं, तथ्योंि की जांच करती हैं और तभी उनकी समस्या को फेसबुक पर डालती हैं ।

नारी शक्तिन पुरस्कांर विजेता, 2016

संपर्क : smita.tandi@gmail.com

inspire wommen

21.

सुश्री जुबनी हम्त्सो

आपने कॉलेज से मिलने वाली छात्रवृत्ति से पैसे बचाकर 3500 रूपए की शुरूआती पूंजी से वर्ष 2011 में प्रैसियस मी लव (पीएमएल) नामक एक ब्रांड शुरू किया । आपने पीएमएल के 'नंगशिबा' हस्तशिल्प प्रभाग को शुरू किया जो पूर्वोत्तर भारत की खूबसूरत हस्तनिर्मित गुड़िया बनाने के लिए कपड़ा निर्माण इकाइयों से अपशिष्ट वस्त्रों को पुन:उपयोग करता है । यह पहल दिव्‍यांग एवम् स्‍कूल छोड़ चुकी महिलाओं को रोजगार और सशक्तिकरण प्रदान करके उन्‍हें सशक्‍त बनाने में बहुत सफल रही है । पीएमएल ने अपनी खुद की ई-कॉमर्स वेबसाइट लॉन्च की, जो सभी लड़कियों की टीम द्वारा संचालित पूर्वोत्तर भारत की पहली फैशन ई-कॉमर्स साइट बन गई।

नारी शक्तिं पुरस्कावर विजेता, 2016

संपर्क : zuboni.humtsoe@gmail.com

inspire wommen

22.

सुश्री कमर डागर

आप चित्रमय कॉलिग्राफर और कलमकारी क्रिएटिव कैलिग्राफी ट्रस्ट दिल्ली की संस्थापक निदेशिका हैं । आपने दिल्ली और जयपुर में अंतर्राष्ट्रीय कैलिग्राफी पर्वों का आयोजन और प्रबन्ध किया है । आप रचनात्मक और पारंपरिक कैलिग्राफी बनाने की दिशा में काम करने के लिए प्रतिबद्ध हैं जो दुनिया में एक महत्वपूर्ण दृश्य कला के रूप में जाना जाती है ।

नारी शक्ति> पुरस्कानर विजेता, 2016

संपर्क : qamardagar@gmail.com

inspire wommen

23.

सुश्री रीमा साठे

आप “हैप्पी रूट्स” की संस्थापक हैं, जो विदर्भ के जल संकटग्रस्त क्षेत्र में किसानों को उच्च मूल्य वाला वैकल्पिक आय स्रोत बनाने में मदद करने की एक पहल है । आपने महाराष्ट्र के 12000 छोटे और जन-जातीय किसानों का प्रत्यक्ष कृषि उत्पादन वाला सोर्सिंग नेटवर्क विकसित किया है, जिसमें महिला किसानों सहित 30% आबादी शामिल है ।

नारी शक्ति> पुरस्कातर विजेता, 2016

संपर्क : reema@happyroots.in

inspire wommen

24.

सुश्री कल्याणी प्रमोद बालकृष्णन

आप एक वस्त्र डिजाइनर हैं । आपने मनस्थला फाउंडेशन, जो अनुसंधान, विकास और कला ज्ञान के प्रसार का एक ट्रस्‍ट है, के माध्यम से कपड़ा और हथकरघा की कला को बढ़ावा देने का काम किया है । आप वर्ष 2005 से 2008 तक 15,000 बुनकरों के उत्थान के लिए तमिलनाडु सरकार द्वारा संचालित स्वर्णजयंती ग्राम स्वरोजगार योजना के लिए मुख्य डिजाइनर थीं ।

नारी शक्ति> पुरस्काीर विजेता, 2016

संपर्क : kalyanipramods@gmail.com

inspire wommen

25.

सुश्री रिंग्युचोन वाशम

आप उखरूल डिस्ट्रिक्‍ट वूमन इंस्टीट्यूट ऑफ माइक्रो क्रेडिट (यूडीडब्ल्यूआईएम), मणिपुर की क्रैडिट मैनेजर हैं । यूडीडब्ल्यूआईएम महिला स्‍व:सहायता समूहों का एक शीर्ष निकाय है जो सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक मुद्दों पर लगभग 13,000 महिला स्‍व:सहायता समूहों (एसएचजी) को शक्ति प्रदान करता है । आप स्‍व:सहायता समूहों (एसएचजी) की महिला नेताओं के मध्‍य अंत:जिला/अंत:क्षेत्रीय विनिमय कार्यक्रमों को उत्प्रेरित कर रही है और विभिन्न वर्गों/गांवों के बीच घनिष्ठ संबंधों को बढ़ावा दे रही है ।

नारी शक्ति> पुरस्कारर विजेता, 2016

संपर्क : rchonvashum@gmail.com

inspire wommen

26.

सुश्री संगिता अय्यर

आप एक बहु पुरस्कार विजेता प्रकृति और वन्यजीव पत्रकार और वृत्तचित्र फिल्म निर्माता हैं । आपने हाल ही में केरल, भारत में एशियाई हाथियों की दुर्दशा, जिनका संस्कृति और धर्म की आड़ में लाभ के लिए शोषण किया जा रहा है, पर एक फिल्‍म "गॉड्स इन शेकल्स" जारी की है ।

नारी शक्ति> पुरस्काएर विजेता, 2016

संपर्क : sangita.motherearth@gmail.com

inspire wommen

27.

सुश्री बानो हरलू

आप पूर्वोत्तर भारत की एक अग्रणी पुरस्कार विजेता टेलीविजन पत्रकार हैं । आपको सरकारी और निजी प्रसारण मीडिया, दोनों में कार्य करने का दो दशकों का अनुभव प्राप्‍त है । आपने नागालैंड वन्य जीवन और जैव विविधता संरक्षण ट्रस्ट की स्थापना की है और वन विभाग के लिए अपने राज्य में वन्यजीवन की स्थिति निर्धारित करने हेतु विभिन्न सर्वेक्षणों का समन्वय किया है ।

नारी शक्ति> पुरस्कारर विजेता, 2016

संपर्क : planetbano@gmail.com

inspire wommen

28.

छन्‍व फाउंडेशन (शेरो कैफे)

छन्‍व फाउंडेशन, आगरा में दुनिया का पहला कैफे चलाता है, जिसे एसिड हमले की उत्‍तरजीरजीवी महिलाओं द्वारा चलाया जा रहा है । आप एसिड हिंसा को खत्म करने के लिए “स्टॉप एसिड अटैक” नामक एक अभियान भी चला रही हैं ।

नारी शक्ति> पुरस्काeर विजेता, 2016

संपर्क : chhanvfoundation@gmail.com

inspire wommen

29.

मिजो हेमीचे इंसुइखवम पॉव्‍ल (एम.एच.आई.आईपी.)

एम.एच.आई.पी. की स्थापना वर्ष 1974 में हुई थी और मिजोरम में सबसे बड़े स्वैच्छिक संगठनों में से एक है जो बेसहारा तथा दलित महिलाओं के अधिकारों के लिए काम करता है । एम.एच.आई.पी. प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करता है जो लोगों को मिजो महिलाओं की स्थिति को ऊपर उठाने के महत्व के बारे में जागरूक करता है ।

नारी शक्ति> पुरस्काeर विजेता, 2016

संपर्क : mhipoff@gmail.com

inspire wommen

30.

साधना महिला संघ

यह संगठन वर्ष 2002 से बैंगलुरू में सड़क आधारित सैक्स वर्कर्स के अधिकारों एवम् कल्याण के लिए काम कर रहा है । संगठन सैक्स वर्कर्स के बच्चों को शिक्षा और छात्रवृत्ति पाने, स्वास्थ्य सेवाएं आदि के लिए भी मदद करता है । अब तक, संगठन 3000 महिलाओं तक पहुंच चुका है ।

नारी शक्ति पुरस्कार विजेता, 2016

संपर्क : janasahayog@gmail.com

inspire wommen

31.

दी त्रिपुनीथुरा कथ्थक कली केंद्रम लेडीज़ ट्रूप

दुनिया की पहला महिला कथ्थक कली ट्रूप का गठन वर्ष 1975 में हुआ था । इस संगठन ने दुनिया भर में लगभग 1500 कार्य- प्रदर्शन किए हैं । उसके प्रयासों के कारण आज लड़कियॉं और युवा महिलाएं आगे आ रही हैं और पुरुष कलाकारों के साथ कार्य-प्रदर्शन कर रही हैं ।

नारी शक्ति पुरस्कार विजेता, 2016

संपर्क : varmakavya123@gmail.com

inspire wommen

32.

शिक्षित रोजगार केंद्र प्रबन्‍ध‍क समिति

एसआरकेपीएस लिंग चयन उन्मूलन को समाप्त करने के लिए काम करता है । राजस्थान राज्य में आयोजित 38 नकली परिचालनों में से 26, एसआरकेपीएस के समर्थन से कार्य कर रहे हैं । वे नियमित रूप से ब्लॉक, जिला और राज्य स्तर पर गर्भाधान पूर्व एवं प्रसव पूर्व नैदानिक तकनीक कक्ष, मीडिया और समर्थकों को पीसीपीएनडीटी अधिनियम के क्रियान्‍वयन को मजबूत करने के लिए जन्म के समय बाल लिंग अनुपात और लिंग अनुपात के अपने डाटा और विश्लेषण को साझा करते हैं ।

नारी शक्ति पुरस्कार विजेता, 2016 क

संपर् :srkpsjjn@gmail.com, srkpsamiti@yahoo.co.